web statistics
Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

All India New Guidelines: यदि आप गूगल पे, फोन पे, पेटीएम इस्तेमाल करते हो ध्यान दें, नया नियम फॉलो करना होगा, नहीं तो नहीं होगा लेनदेन 

आजकल के डिजिटल जमाने में सभी लोग पैसों का लेनदेन ऑनलाइन तरीकों से करते हैं, यानी इंडिया में रहने वाले वाले हर एक परिवार ऑनलाइन लेनदेन का तरीका अपनाते हैं। ऑनलाइन तरीकों को अपने आने का मतलब है सभी लोग यूपीआई आईडी गूगल पे फोन पे पेटीएम या अन्य ऑनलाइन यूपीआई आईडी से ट्रांजैक्शन करते हैं। हाल ही में पेमेंट्स कॉरपोरेशन आफ इंडिया की ओर से इसको लेकर नई गाइडलाइन जारी की गई है,यदि कोई भी व्यक्ति जारी गाइडलाइन के नियमों को फॉलो नहीं करता है तो उनके ऑनलाइन लेन देन बंद कर दिया जाएगा। 

हमारे देश भारत में ज्यादातर लोग ऑनलाइन लेनदेन करने के लिए यूपीआई आईडी का इस्तेमाल करते हैं यूपीआई आईडी एक एसिड हैंजो हमें आजकल विभिन्न प्रकार के मोबाइल ऐप में उपलब्ध करवाई जाती है। यूपीआई आईडी के जरिए पैसों का भुगतानएक दूसरे को किया जा सकता है। बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो आजकल यूपीआई से पैसे का आदान-प्रदान करते हैं। यूपीआई भुगतान में मुख्य रूप सेप्लेटफार्म पर  गूगल पे, फोन पे, पेटीएम मुख्य रूप से इस्तेमाल किए जाने वाले ऐप है।  यदि आप भी पैसों का लेनदेन या किसी को पैसों का भुगतान कर यूपीआई आईडी के जरिए करते हैं तो आपको नई गाइडलाइन के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है। 

All India New Guidelines
All India New Guidelines

यूपीआई नई गाइडलाइन 

जानकारी के मुताबिक बता दें कि नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन आफ इंडिया यानी एनपीसीआई ने सभी बैंकों और ऐसे थर्ड पार्टी एप्लीकेशन प्रोवाइड जैसे गूगल पे, फोन पे, पेटीएम जैसे कई प्रकार के मोबाइल एप्लीकेशन को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है।  यदि कोई भी व्यक्ति एनपीसीआई द्वारा जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार काम नहीं करेगा तो उसकी यूपीआई आईडी को बंद कर दिया जाएगा यानी रिजेक्ट कर दिया जाएगा उसके बाद व्यक्ति यूपीआई आईडी का इस्तेमाल नहीं कर पाएगा। 

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशनऑफ इंडिया द्वारा जारीकी गई गाइडलाइन का मुख्य उद्देश्य यह है कि कोई भी पेमेंट गलत व्यक्ति के लिए ट्रांसफर नहीं किया जा सके और कोई भी व्यक्ति किसी भी यूपीआई आईडी का गलत तरीके से इस्तेमाल न करें।  हम सभी को कई बार देखने को मिलता है कि वह उसे यूपीआई आईडी को अलग करना भूल जाते हैं कई दिनों तक नंबर बंद रहने की वजह से जब किसी दूसरे को वह नंबर अलॉट हो जाता है तो यूपीआई आईडी उसे नंबर से पहले से जुड़ी हुई होती हैं ऐसे में गलत ट्रांजैक्शन हो सकती हैं या नहीं पैसे डूब सकते हैं। 

31 दिसंबर बाद नहीं हो पाएगा यूपीआई से लेनदेन

सभी बैंकों ऑर्थोपेड पार्टी एप्लीकेशन प्रोवाइडर को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन आफ इंडिया ने दिशा निर्देश जारी करके नई गाइडलाइन के बारे में समझाया है।  उन्होंने यह बताया है कि ऐसे ग्राहकों की पहचान करनी है जिन्होंने पिछले 1 साल में यूपीआई आईडी का बिल्कुल भी इस्तेमाल नहीं किया है ऐसे ग्राहकों की यूपीआई आईडी पर एनपीसीआई ने रोक लगाने के निर्देश दिए हैं। यदि आप भीऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते हैं या आपकी फैमिली में कोई भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करता है और उसने पिछले 1 साल में यूपीआई का इस्तेमालसही तरीके से नहीं किया हैफिर उसकी यूपीआई आईडी को सरकार द्वारा बंद कर दिया जाएगा।  

All India New Guidelines

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

यदि आप यूपीआई आईडी की सेवाओं को जारी रखना चाहते हैं तो आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है अपने यूपीआई आईडी से सबसे पहले छोटा-मोटा लेनदेन करना है यानी किसी से पेमेंट लेना है या किसी को पेमेंट करना है यह सब करने के बाद आपकी आईडी को ऑटोमेटिक चालू रह जाएगी आपको कुछ भी करने की जरूरत नहीं है। इसके अलावा आपको ध्यान देने की यह जरूरत है कि यह प्रक्रिया चालू होते ही साइबर ठगी भी संक्रिया हो चुकी है आईडी चालू रखने के नाम पर बहुत सारे ठगी का धंधा शुरू हो चुका है तो आप ऐसे लोगों से बच्चे रहे और आपकी आईडी को शुरू करके सुरक्षित अवश्य करें।

Leave a comment